Urja Ganga Project- पीएम ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना

PM Urja Ganga Gas Pipeline Project Details In Hindi | Check Urja Ganga Pariyojana Status & PIB Notification | ऊर्जा गंगा परियोजना क्या है-हिंदी में देखिए

Urja-Ganga-Gas-Pipeline-Project-In-Hindi
Urja-Ganga-Gas-Pipeline-Project-In-Hindi

PM Urja Ganga Gas Pipeline Project 2019-20 :- ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी, उत्तर प्रदेश में किया था। उत्तर प्रदेश से ओडिशा तक 2540 किलोमीटर लंबाई की पाइप लाइन बिछाने की योजना है। 2012 में प्रकाशित द इकोनॉमिक एंड पॉलिटिकल वीकली (EPW) में ‘किसके लिए सब्सिडी’ नामक एक शीर्षक से पता चलता है कि केवल 18 प्रतिशत परिवार रसोई गैस का उपभोग ईंधन के रूप में करते हैं। बाकी खाना पकाने के अन्य तरीकों जैसे लकड़ी, मिट्टी के तेल, गोबर के उपले आदि का उपयोग करते हैं। यह सब उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है। इस परियोजना का मुख्य लक्ष्य देश के पूर्वी हिस्से के निवासियों को वाहनों और कुकिंग गैस के लिए Piped Natural Gas (PNG) & Compressed Natural Gas (CNG) उपलब्ध कराना है |

इस योजना के तहत IOCL, ONGC, GAIL, OIL और NRL इन सभी पांच कंपनियों द्वारा काम किया जाएगा यह योजना आगे दो वर्षों के भीतर वाराणसी के प्रत्येक घरों में पहुंचेगी। और एक वर्ष में पड़ोसी राज्यों के लाखों लोगों को पाइप्ड कुकिंग गैस उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित है। सरकार ने इन राज्यों में 25 औद्योगिक क्लस्टर बनाने की योजना बनाई है। इससे गैस का उपयोग ईंधन के रूप में कर सकते हैं तथा इन क्षेत्रों में रोजगार पैदा कर सकते हैं। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने फिक्की शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा हमारा उद्देश्य प्राकृतिक गैस ग्रिड के तहत नॉर्थ ईस्ट को लाना है। जगदीशपुर-हल्दिया और बोकारो-धामरा क्षेत्र आदि में पहले ही काम शुरू हो चुका है। अब हम इसे गुवाहाटी तक पहुंचा रहे हैं।”

ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना क्या है?

What is Urja Ganga Gas Pipeline Project – सरकारी स्वामित्व वाली गैस उपक्रम गेल (GAIL India) ने कहा कि उसने प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना के तहत बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के 520 किमी के क्षेत्र में पाइपलाइन बिछाने का काम ठेके पर दिया है। जगदीशपुर-हल्दिया और बोकारो-धामरा प्राकृतिक गैस पाइपलाइन (JHBPL) के चरण-II के लिए प्रमुख अनुबंधों को अंतिम स्वरुप दिया गया है। गेल ने कहा कि उसने जमशेदपुर (झारखंड) में 120किमी लाइन सहित दोभी (बिहार) से दुर्गापुर (प.बंगाल) के लिए 520किमी की पाइपलाइन बिछाने के लिए ठेका दे दिया है।

कंपनी की महत्वकांक्षी 2,655 किमी लंबी जगदीशपुर-हल्दिया और बोकारो-धामरा प्राकृतिक गैस पाइपलाइन (JHBPL) परियोजना को Urja Ganga Gas Pipeline Project के रूप में भी जाना जाता है। यह पाइपलाइन उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओड़िशा से होकर गुजरेगी।

Urja-Ganga-Gas-Pipeline-Project-Details
Urja-Ganga-Gas-Pipeline-Project-Details
पीएम ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना विवरण-

PM Urja Ganga Gas Pipeline Project – ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना का शुभारंभ प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 24 अक्टूबर 2016 को वाराणसी से किया था। ऊर्जा गंगा परियोजना के तहत, पूर्वी भारत के सात शहरों (वाराणसी, रांची, कटक, पटना, जमशेदपुर, भुवनेश्वर और कोलकाता) में PNG गैस वितरण किया जाएगा।

विभिन्न क्षेत्रों में गैस स्टेशनों के साथ योजना के तहत पहले चरण में 1500 किलोमीटर लंबी एलपीजी पाइपलाइन बिछाने के लिए आवंटित बजट लगभग 51हजार करोड़ है। परियोजना के तहत, दूसरे चरण में, उत्तर प्रदेश के जगदीशपुर को पश्चिम बंगाल के हल्दिया से जोड़ने वाली लगभग 2540 किलोमीटर लंबी गैस पाइपलाइन 2018तक बिछाई गई थी।

इसे भी पढ़ें: पीएम किसान सम्मान निधि योजना विवरण में सुधार करें

प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा परियोजना से जुडी अन्य बातें-
  1. इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य को करीबन 338 किलोमीटर लंबी गैस पाइप लाइन मिलेगी।
  2. बिहार राज्य को करीबन 441 किलोमीटर लंबी गैस पाइप लाइन मिलेगी।
  3. पूर्वी भारत में झारखंड राज्य को करीबन 500 किलोमीटर लंबी गैस पाइप लाइन मिलेगी।
  4. पूर्वी भारत मे पश्चिम बंगाल राज्य में 542 किलोमीटर की गैस पाइप लाइन होगी।
  5. ओडिशा राज्य को लगभग 718 किलोमीटर की गैस पाइप लाइन मिलेगी।

ध्यान दे – Urja Ganga Gas Pipeline Project के तहत वाराणसी शहर में 50 हजार घरों को PNG कनेक्शन और 20 हजार वाहनों को CNG उपलब्ध कराने के लिए 20 स्टेशनों का निर्माण किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: CNG Pump Dealership – सीएनजी पंप खोलने की प्रक्रिया

PM Urja Ganga Gas Pipeline Project का महत्व-
  • प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना से भारत के पूर्वी क्षेत्र के विकास की गति को तेज किया जायेगा। इस पाइपलाइन से गैस प्राप्त कर इस क्षेत्र के 5 राज्यों के 25 औ़द्योगिक संकुलों को विकसित किया जायेगा।
  • पूर्वी भारत के सात प्रमुख शहर वाराणसी, जमशेदपुर, पटना, रांची, कोलकाता, भुवनेश्वर एवं कटक इस विकास परियोजना के लाभार्थी होंगे।
  • वाराणसी के लगभग 50,000 घरों और 20,000 वाहनों को स्वच्छ और सस्ता ईंधन प्राप्त हो सकेगा जो पर्यावरण संरक्षण में भी उपयोगी साबित होगा।
  • इसके माध्यम से गैस की आपूर्ति गोरखपुर (उत्तर प्रदेश), बरौनी (बिहार), सिंदरी (झारखंड) और दुर्गापुर (पं बंगाल) के उर्वरक संयंत्रों को पुनर्जीवित करने में मदद करेगी।
  • इससे वाराणसी के घाटों और श्मशान घाटों में प्राकृतिक गैस रहित श्मशान स्थापित करने में मदद मिलेगी।
  • ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन परियोजना न केवल पूर्वी भारत के आर्थिक विकास में सहायक सिद्ध होगी बल्कि पर्यावरण संरक्षण में भी अहम भूमिका निभायेगी।

Click Here

Pradhan Mantri Urja Ganga Project – PIB: Click Here

इसे भी पढ़ें: Pradhan Mantri Yojana List – प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई योजनाओं की सूची

Govt-Process-Helpline-Team

Leave A Reply

Your email address will not be published.