[MSME] एमएसएमई को मिलेगा 3 लाख करोड़ का गारंटी फ्री लोन

MSME Guarantee Free Loan 2020-: कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पुरे देश की अर्थव्यवस्था रुक सी गयी है क्योंकि उत्पादन पर लॉकडाउन की वजह से रोक लग रखा है। इस देश की अर्थव्यवस्था को नयी दिशा देने के लिये प्रधानमंत्री मोदी जी ने 12 मई 2020 को 20 लाख करोड़ की आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज की घोषणा की। जिसमें एमएसएमई (MSME) के लिए विशेष रूप से 3 लाख करोड़ लोन का पैकेज रखा गया है। मेक इन इंडिया के तहत केंद्र सरकार ने लोकल को ग्लोबल ब्रैंड के रूप में बनाने के लिए सूक्ष्म, छोटे एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय पर विशेष रूप से प्रोत्साहन करने की बात रखी गयी है। यदि हम अपना खुद का ही उत्पादन का निर्माण करें तो हम स्वतः ही आत्मनिर्भर बन जाएंगे।

MSME-Guarantee-Free-Loan-In-Hindi
MSME-Guarantee-Free-Loan-In-Hindi

हमें किसी और देश के उत्पादन पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा और न ही हमारे पास रोजगार की कमी होगी। जिससे हमें हमारे देश में रोजगार भी मिल जायेगा और हम अपने में आत्मिर्भर भी बन जायेंगे। Micro Small Medium Enterprises भरतीय अर्थव्यवथा को गति देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। जिसमे एक बार फिर से भारत सरकार और तेज गति देने के लिए MSME लोगों को उद्योग – धंधे खुलने का अवसर प्राप्त करा रही है।और साथ ही उनके लिए “MSME Guarantee Free Loan” की व्यवस्था की गयी है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान में एमएसएमई गारंटी मुक्त ऋण

MSME Guarantee Free Loan in Self-Reliant India Campaign – सूक्ष्म, छोटे और मध्यम उद्योग (MSME) हैं। इनकी अभी तक भरतीय अर्थव्यवस्था में कुल 45% की हिस्सेदार थी। इस हिस्से दरी को बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने एमएसएमई की पूरी परिभाषा को ही अब बदल डाला। जहाँ एक और COVID-19 के संक्रमण ने देश की अर्थव्यवस्था को बुरी तरह मार दिया। वहीं दूसरी और केंद्र सरकार इस समय देश की अर्थव्यवस्था को नई दिशा और दशा देने के लिए ‘स्वदेशी बिज़नेस आइडियाज’ को बढ़ावा दे रही है।

जिसके लिए केंद्र सरकार ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत सूक्ष्म, छोटे और मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए 3 लाख करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषण की है। अब सभी एमएसएमई व्यवसाय उद्योगों को निम्न स्तर से बढ़ावा मिलगा। तो भारत में प्राथमिक उत्पादन से लेकर पूर्ण उत्पादन तक ही हिस्सेदारी बढ़ेगी। जिससे अपने देश का स्वदेशी ब्रैंड भी ग्लोबल ब्रैंड बनेगा। और जिससे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भरतीय अर्थव्यवस्था की हिस्सेदारी और ज्यादा होगी जिससे देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

इसे भी पढ़ें: जिला उद्योग केंद्र लोन स्कीम 2020 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

एमएसएमई आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्रकार-

Types of MSME Self-reliant India Campaign – आत्मनिर्भर भारत अभियान में एमएसएमई तीन प्रकार की हिस्सेदारी है।

  1. सूक्ष्म उद्यम (Micro Enterprise) – के अंतर्गत उद्योगपति अब 1रूपये करोड़ का निवेश कर सकता है। जिसमे वह 5 करोड़ रुपए का टर्नओवर करने वाली कपनियाँ और उद्योग आयेंगे।
  2. छोटे उद्यम (Small Enterprise) – के अंतर्गत 10 करोड़ का निवेश करने वाली कंपनी और जिनका टर्नओवर 50 करोड़ तक का है। उन उद्योग को रखा गया है।
  3. मध्यम उद्यम (Medium Enterprise) – के अतंर्गत 20 करोड़ का निवेश करने वाली कम्पनी जो 100 करोड़ का टर्नओवर करने वाले उद्योग और कंपनी हैं।

कोरोना राहत पैकेज में एमएसएमई उद्योग खास-

MSME Udyog Special in Corona Relief Package:

  • संकट में फसे MSME के लिए 20 हजार करोड़ रुपए के सब-ऑर्डिनेटर लोन।
  • MSME को मिलेंगे 3 लाख रुपए करोड़ बिना किसी गारंटी के लोन।
  • 50000 करोड़ रुपए के फंड्स ऑफ़ फड़ के माध्यम से सहयोग।
  • MSME Guarantee Free Loan की परिभाष में हुआ बदलाव।
  • 15 हजार रुपए से कम वेतन वालों को EPIAF अगस्त तक केंद्र देगा।
  • NBFS / HFC / MFI के लिए 30 हजार करोड़ रुपए की स्पेशल लिक्चिडिटी स्कीम।
  • NBFC के लिए लिए च रही 45000 करोड़ रुपए की आंशिक ऋंगारन्टी योजना का विस्तार।
  • बिजली वितरण कंपनियों के लिए 90 हजार करोड़ रुपए की इमरजेंसी लिक्चिडिटी।
  • RERA प्रोजेक्ट्स को 6 महीने आगे बढ़ाने का प्रस्ताव।
  • TDS का रेट घटाकर 50000 करोड़ रुपए की लिक्चिडिटी बढ़ाएगी सरकार।
  • 41 करोड़ जनधन खातों में DBT किया गया।
  • TDS,TCS में की गयी 25% की कटौती।
  • MSME की बकाया राशि का भुगतान 45 दिन में करेगी सरकार।

इसे भी देखें: प्रवासी मजदूरों के लिए किफायती किराया आवास योजना

MSME गारंटी मुक्त ऋण आत्मनिर्भर भारत में आवेदन प्रक्रिया-

Application Process in MSME Guarantee Free Loan (Self-Reliant India Campaign) – आत्मनिर्भर भारत अभियान में एमएसएमई में आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन माध्यम से की जाती है।

(1st) एमएसएमई ऑफलाइन पंजीकरण प्रक्रिया (MSME Offline Registration Process):

  • आवेदक जिस किसी क्षेत्र में अपना व्यवसाय करना है, उसका आवेदन फार्मलाके सभी प्रकार की पूछी गयी जानकारी भरनी है।
  • व्यवसाय आवेदन फार्म को भर के आपको MSME ऑफिस में जाकर अपना पजीकरण करना होगा।
  • आवेदन फार्म को पंजीकरण करने के पश्चात आपको व्यवसाय के जिला स्तर पर जा के सबंधित विभाग में जमा करना है।
  • इसके बाद, आपके दस्तावेजों को एक बार फिर से एमएसएमई रजिस्ट्रेशन ऑफिस में संबंधित अधिकारी के पास स्पष्टीकरण करने को भेजा जाता है। स्पष्टीकरण पूर्ण होने के बाद, आपको ‘एमएसएमई का प्रमाण पत्र’ प्रदान किया जाता है।

(2nd) एमएसएमई ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (MSME Online Application Process):

  • सबसे पहले आवेदक को उद्योग आधार की आधिकारिक वेबसाइट पर पर जाना होगा।
  • उद्योग आधार की आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
  • अब आपकी होम स्क्रीन उद्योग आधार की पेज खुला होगा, जहां आपको अपना पर आधार संख्या/उद्यमी का नाम भरना होगा।
  • इसके बाद, आपके सामने उद्योग आवेदन फार्म खुलेगा, जिसको सही प्रकार से भरना है।
  • जब आपका ऑनलाइन MSME Certificate बन जायेगा, तो आप अपना उद्योग शुरू कर सकतें है।
  • और आत्मनिर्भर भारत अभियान में ‘MSME Guarantee Free Loan’ प्राप्त कर सकते हैं।

Click Here

यह भी पढ़ें: वित्तमंत्री ने दी आत्मनिर्भर भारत अभियान विशेष पैकेज की जानकारी

Govt-Process-Helpline-Team

Leave A Reply

Your email address will not be published.