Kusum Yojana – कुसुम योजना सौर कृषि पंप ऋण सब्सिडी 2019

कुसुम योजना 2019-20 - ऑनलाइन पोर्टल, आवेदन पत्र, पात्रता मानदंड, किसान ऊर्जा सुरक्षा कार्यक्रम उत्थान महाभियान - सौर कृषि पंप ऋण सब्सिडी योजना / Kusum Yojana - Online Apply, Eligibility, Kisan Urja Suraksha Karyakaram Uthan Mahabhiyan - Solar Pump Farmers Loan Subsidy Yojana

0
Kusum Yojana Rajasthan | Kusum Yojana Form | Kusum Yojana Online Application | Kusum Yojana Online Registration | Kusum Yojana Registration | Kusum Yojana Punjab | Kusum Yojana Official Website | Kusum Yojana in Hindi | कुसुम योजना आवेदन | कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन | कुसुम योजना 2019-20 | कुसुम योजना सोलर पंप | कुसुम योजना की पात्रता | कुसुम योजना 2019 | कुसुम योजना Wikipedia | कुसुम योजना PIB

2018 की शुरुआत में किसानों की बेहतरी के उद्देश्य से कई अनूठी योजनाओं की घोषणा हुई। इनमें से एक किसान ऊर्जा सुरक्षा कार्यक्रम उत्थान महाभियान / Kisan Urja Suraksha Karyakaram Uthan Mahabhiyan – Solar Pump Farmers Loan Subsidy Yojana (कुसुम योजना – KUSUM Yojana) है। इस व्यवस्था के तहत, केंद्र सरकार अपने खेतों पर नए और बेहतर सौर पंप स्थापित करने के लिए अधिक से अधिक किसानों की सहायता करना चाहती है। किसानों को इस लाभ के लिए भारी शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह सरकारी अनुदान के साथ आता है।

योजना का नाम कुसुम योजना / KUSUM Yojana 2019
योजना का पूर्ण रूप किसान उर्जा सुरक्षा उत्थान महाभियान योजना
कुसुम योजना वेबसाइट
kusum.online
पहली घोषणा फरवरी
पहली घोषणा
अरुण जेटली द्वारा
दूसरी घोषणा
2 फरवरी
दूसरी घोषणा
ऊर्जा मंत्रालय
योजना शुरू साल
2018 से 2019
अंतिम वर्ष
2021
कुसुम योजना मंत्रालय
भारतीय विद्युत मंत्रालय आर के सिंह के नेतृत्व में
लक्षित लाभार्थी
कृषि मजदूर या किसान
निवेश की गई राशि
48000 करोड़ रुपये
मुख्य उद्देश्य
किसानों को बिजली पैदा करने के लिए आगे की तकनीकी प्रगति की पेशकश करना

कुसुम योजना का उद्देश्य

Main Objects for KUSUM Yojana 2019 Solar Pump Loan Subsidy for Farmers -:

इस कुसुम योजना (KUSUM Yojana) का मुख्य उद्देश्य किसानों को बिजली पैदा करने के लिए उन्नत तकनीक प्रदान करना है। सौर पंप न केवल किसानों को उनकी खेती को सिंचित करने में सहायता करेंगे बल्कि प्रत्येक किसान को सुरक्षित ऊर्जा उत्पन्न करने में भी सहायता करेंगे। ऊर्जा पावर ग्रिड की उपस्थिति के कारण, कृषि मजदूर अतिरिक्त बिजली सीधे सरकार को बेच सकेंगे। यह उन्हें अतिरिक्त आय भी प्रदान करेगा। तो, यह योजना दोहरा लाभ लाएगी।

कुसुम योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन या पंजीकरण

Online Application or Registration Procedure for KUSUM Yojana 2019 Farmer Saur Pump Rin -:
  • योजना के पंजीकरण हेतु आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट kusum.online पर जाना होगा।
  • इस वेबसाइट पर आपको एप्लीकेशन फॉर्म ऑनलाइन प्राप्त होगा जो “आवेदन करें” विकल्प के रूप में मौजूद है। आधिकारिक वेबसाइट के होमपेज पर दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद, स्क्रीन पर कुसुम योजना का ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म दिखाई देगा।
  • जिसके बाद उम्मीदवारों को किसानों के नाम, मोबाइल नंबर, साथ ही ईमेल आईडी जैसे विवरण दर्ज करने होंगे। विवरण देने के पूरा होने पर, योजना की पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • कुसुम योजना के होमपेज पर एक और विवरण देख सकते हैं।

कुसुम योजना की विशेषताएं

Main Features & Qualities of KUSUM Yojana 2019 Loan Subsidy Solar Pump for Farmers -:
KUSUM Yojana 2019
KUSUM Yojana 2019
  • किसानों की भलाई के लिए – इस कार्यक्रम का सफल संचालन किसानों को न केवल उनकी बिजली संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करेगा, बल्कि अतिरिक्त ऊर्जा बेचकर कुछ अतिरिक्त नकदी अर्जित करने में भी सक्षम होगा।
  • बंजर भूमि को खेती योग्य बनाना – सरकार ने यह भी घोषणा की है कि वह पौधों के निर्माण के लिए पहल करेगी, जिससे सौर ऊर्जा उत्पन्न होगी। मसौदे के अनुसार, ये संयंत्र केवल बंजर भूमि क्षेत्रों पर लगाए जाएंगे, जो कुल 28, 250 मेगावाट बिजली पैदा करने में सक्षम हैं।
  • सौर ऊर्जा संचालित पंपों का वितरण – इस कार्यक्रम का प्राथमिक उद्देश्य सौर पंपों के साथ इच्छुक किसानों को प्रदान करना है। सरकार का कहना है कि कृषि मजदूरों को 17.5 लाख सौर ऊर्जा संचालित पंप उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • छोटे पैमाने पर बिजली उत्पादन – सौर ऊर्जा संयंत्रों के अलावा, सरकार खेतों में नए सौर पंपों की स्थापना की दिशा में काम करेगी, जो डीजल पंप हैं। इन पंपों की क्षमता 720 मेगावाट होगी।
  • नलकूपों से विद्युत उत्पादन – सरकार अद्वितीय नलकूपों की स्थापना की दिशा में भी काम करेगी। इनमें से प्रत्येक पंप 8250 मेगावाट की बिजली पैदा करने में सक्षम होगा।
  • अतिरिक्त बिजली की बिक्री – वितरण के अलावा, यह योजना सभी किसानों को सौर पंप स्थापित करके अधिक पैसा कमाने का मौका भी प्रदान करती है। किसानों द्वारा उत्पादित ऊर्जा की अधिक मात्रा ग्रिड को बेची जा सकती है।
  • योजना की अवधि – वर्तमान अनुमान बताता है कि इस विस्तृत योजना के सफल समापन के लिए, केंद्र सरकार को कम से कम 10 वर्षों तक काम करना होगा।
  • योजना की सब्सिडी संरचना – कुसुम योजना (KUSUM Yojana) के अनुसार, प्रत्येक किसान को नए और बेहतर सौर ऊर्जा संचालित पंपों पर भारी सब्सिडी मिलेगी। उन्हें कृषि मजदूरों को एक सोलर पंप स्थापित करने के लिए कुल खर्च का केवल 10% खर्च करना होगा। केंद्र सरकार 60% लागत प्रदान करेगी, जबकि शेष 30% का क्रेडिट के रूप में बैंक द्वारा दिया जाएगा।
  • समग्र पर्यावरण संरक्षण हेतु – सौर ऊर्जा और सौर संयंत्रों से उत्पन्न बिजली के बढ़ते उपयोग से क्षेत्र में शुद्धिकरण का स्तर कम होगा। जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता बहुत कम हो जाएगी।

कुसुम योजना के प्रमुख घटक

Main Parts & Components for KUSUM Yojana 2019 Kisan Rin Saur Pamp -:
  • सौर पंप वितरण – कार्यक्रम के पहले चरण के दौरान, बिजली विभाग, सरकार के अन्य भागों के साथ मिलकर सौर-संचालित पंपों के सफल वितरण की दिशा में काम करेगा।
  • सौर ऊर्जा कारखाने का निर्माण – अगले घटक में सौर ऊर्जा संयंत्रों का निर्माण शामिल होगा, जिसमें एक महत्वपूर्ण मात्रा में बिजली का उत्पादन करने की क्षमता होगी।
  • नलकूप स्थापित करना – इस योजना का तीसरा घटक केंद्र सरकार की चौकस निगाहों के तहत, अद्वितीय नलकूपों की स्थापना से संबंधित है, जो एक निश्चित मात्रा में बिजली भी होगी।
  • वर्तमान पंपों का आधुनिकीकरण – सौर ऊर्जा का एकमात्र उत्पादन योजना का उद्देश्य नहीं है। इस कार्यक्रम का अंतिम घटक पंपों के आधुनिकीकरण से संबंधित है, जो अभी उपयोग में हैं। पुराने पंपों को विकसित सौर पंपों से बदल दिया जाएगा।

कुसुम योजना / KUSUM Yojana एक विस्तृत है और सफल कार्यान्वयन के लिए बहुत अधिक धन की आवश्यकता होगी। इस कार्यक्रम की घोषणा के अनुसार, वित्त मंत्री और बिजली विभाग ने घोषणा की कि इसके लिए लगभग 48,000 करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी। धन का आवंटन चार अलग-अलग खंडों में किया जाएगा।

2019 के लिए इस योजना के प्रारंभिक उद्द्श्य के अनुसार, सौर संयंत्रों को बांझ क्षेत्रों पर खड़ा करने के लिए कहा गया था जो 28000 मेगावाट बिजली पैदा कर सकते हैं। शुरुआती चरण में, सरकार किसानों को कुल 17.5 लाख सौर ऊर्जा से चलने वाले पंपों की पेशकश करेगी। यह योजना न केवल कृषि मजदूरों के लिए बेहतर लाभ और अतिरिक्त आय प्रदान करने के उद्देश्य से है, बल्कि प्रदूषण के स्तर को भी कम करेगी। जैसे कि सौर पंप बिजली चालित या डीजल पंपों का अधिग्रहण करते हैं, यह संसाधनों का बेहतर उपयोग करेगा।

यहाँ हमने आपको कुसुम योजना / KUSUM Yojana 2019 की पूरी जानकारी प्रदान कर दी है। अधिक जानकारी के लिए आप PIB द्वारा जारी की गई घोषणा को नीचे दिए लिंक द्वारा पढ़ सकते हैं।

PIB Announcement

प्रधानमंत्री योजनाओं की पूरी सूची

List of All Pradhan Mantri Yojana

यहाँ क्लिक करें

यदि आपको अधिक जानकारी या सहायता की आवश्यकता है तो हमसे अपना प्रश्न पूछें। हमारी इस जानकारी से जुड़ी राय या सवाल आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछें। हमारी हेल्पलाइन टीम 24 X 7 आपकी सहायता के लिए उपलब्ध है।

आशा करते हैं आपको हमारे द्वारा दी गई इस जानकारी से जरूर लाभ मिलेगा। यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया तो इसे शेयर जरूर करें। भारत या देश के अन्य राज्यों की सभी प्रक्रियाओं व योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट पर आते रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.