FASTag: फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम क्या है

FASTag Electronic Toll Collection System In Hindi | Fastag Recharge Process & Pay Highway Toll Tax Online | फास्टैग जरूरी डाक्यूमेंट्स व रिचार्ज की दरें

0
FASTag-Electronic-Toll-Collection-System-In-Hindi
FASTag-Electronic-Toll-Collection-System-In-Hindi

FASTag Electronic Toll Collection System 2019-20 :- नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको टोल प्लाजाओं पर टोल कलेक्शन सिस्टम से होने वाली परेशानियों का हल निकालने के लिए “राष्ट्रीय हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया” द्वारा “इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन” (ETC) फास्टैग सिस्टम शुरू किये जाने के बारे में सभी जानकारी देंगे। इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम या फास्टैग स्कीम भारत में सबसे पहले साल 2014 में शुरू की गई थी। जिसे धीरे-धीरे पूरे देश के टोल प्लाजा के ऊपर लागू किया जा रहा है। फास्टैग सिस्टम की मदद से आपको टोल प्लाजा में टोल टैक्स देने के दौरान होने वाली परेशानियों से निजात मिल सकेगी।

FASTags (फास्टैग) एक ऐसा उपकरण है जो सीधे जुड़े हुए प्रीपेड या बचत खाते से टोल भुगतान करने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक को नियोजित करता है, और इसे वाहन के विंडस्क्रीन पर चिपका दिया जाता है। टोल प्लाज़ा के माध्यम से बिना रुके नकद लेनदेन ड्राइव करने के लिए कम्यूटर को सक्षम बनाता है। FASTags की पांच साल की वैधता है और इसे खरीदने के बाद, केवल आवश्यकता के अनुसार FASTag को रिचार्ज / टॉप अप करना होगा। जैसे ही उपयोगकर्ता टोल प्लाजा पार करता है, टोल राशि अपने आप कट जाती है। उपयोगकर्ता को टोल लेनदेन, कम शेष राशि और अन्य सभी घटनाओं के लिए एसएमएस अलर्ट मिलते हैं।

फास्टैग (इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम) क्या है?

What is Fastag (Electronic Toll Collection System) – सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की अधिसूचना के मुताबिक 1 दिसंबर 2017 से बेचे जाने गए सभी चारपहिया वाहनों पर फास्टैग लगाना अनिवार्य हो गया । ये फास्टैग वाहन निर्माता या डीलर की ओर से लगवाया जाएगा। चारपहिया वाहन पर इसे आगे के शीशे पर लगाया जाएगा। लेकिन अभी भी कई लोगो के मन में सवाल है की ये फास्टैग हे क्या तो आइये जानते है।

FASTag एक पुनः लोड करने योग्य टैग है जो टोल शुल्क के स्वत: कटौती को सक्षम करता है और आपको नकदी लेनदेन के लिए बिना रुके टोल प्लाजा से गुजरने देता है। फास्टैग एक प्रीपेड खाते से जुड़ा हुआ है जिसमें से लागू टोल राशि काटी जाती है। टैग रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक को रोजगार देता है और टैग अकाउंट के सक्रिय होने के बाद वाहन की विंडस्क्रीन पर चिपका दिया जाता है।राष्ट्रीय राजमार्गों पर परेशानी मुक्त यात्रा के लिए FASTags एक सही समाधान है। फास्टैग वर्तमान में राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर 420+ टोल प्लाजा पर परिचालन कर रहा है। भविष्य में और अधिक टोल प्लाज़ा को फास्टैग कार्यक्रम के तहत लाया जाएगा।

FASTags कैसे खरीदें-

How to buy FASTag Device – एक ग्राहक फास्टैग खाता बनाने के लिए टोल प्लाज़ा / जारीकर्ता एजेंसी में किसी भी पॉइंट ऑफ़ सेल (POS) स्थानों पर जा सकता है। राष्ट्रीय हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की वेबसाइट https://nhai.gov.in/ में जाकर आप अपने आसपास के पॉइंट ऑफ सेल की जगह पता कर सकते हैं। टोल प्लाजा के अलावा, FASTags बैंकों में उपलब्ध हैं, जिन पर अधिकारियों ने हस्ताक्षर किए हैं। किसी यात्री को टैग प्राप्त करने के लिए, वह उन विशिष्ट बैंकों से संपर्क कर सकता है। वर्तमान में, कई निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक हैं जिन्होंने NHAI के साथ भागीदारी की है।जो निम्न प्रकार से हैं:

एचडीएफसी बैंक आईसीआईसीआई बैंक सिंडिकेट बैंक
  एक्सिस बैंक   आईडीएफसी बैंक भारतीय स्टेट बैंक

और भुगतान बैंकों के बीच, पेटीएम अपने खरीदारों को Paytm FASTag प्रदान करता है।

नोट – फास्टैग (इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम) खाते में कम से कम 100 रु और ज्यादा से ज्यादा 1,00,000 रुपये तक का रिचार्ज कराया जा सकता है।

फास्टैग के लिए आवश्यक दस्तावेज-

Documents Required for FASTag – एक उपयोगकर्ता ऑटोमोबाइल कंपनियों से वाहनों पर इसे स्थापित करने के लिए भी कह सकता है।फास्टैग के लिए एक ग्राहक को आवेदन के साथ निम्नलिखित दस्तावेजों की एक प्रति जमा करनी होगी।

  • वाहन का पंजीकरण प्रमाण पत्र (आरसी)
  • वाहन मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो
  • केवाईसी दस्तावेज, निम्न से कोई भी –
  1. ड्राइविंग लाइसेंस,
  2. पैन कार्ड, पासपोर्ट,
  3. वोटर आईडी कार्ड
  4. या आधार कार्ड।
फास्टैग लेने के लाभ-

Benefits of Taking FASTag – फास्टैग के लाभ निम्नलिखित हैं:

  • फास्टैग ​डिवाइस नए वाहनों में लगा हुआ आएगा। पुराने वाहन मालिक टोल प्लाजा या बैंकों से फॉस्टैग उपकरण खरीद सकते हैं।
    इसकी वैधता 5 साल तक रहेगी।
  • इस 5 साल में आप फास्टैग के जरिए टोल चुेकाकर लाइनों और कैश लेन-देन से बच सकते हैं।
  • फास्टैग एक तरह का मोबाइल है जिसे यूज करने के लिए रिचार्ज या टॉप अप करना होगा। पैसा आप रिचार्ज के जरिए या बैंक अकाउंट/क्रेडिट/डेबिट कार्ड से रिचार्ज कर सकते हैं।
  • टोल प्लाजा पर पलक झपकते ही आपकी गाड़ी के फास्टैग को रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन तकनीक से पहचान लिया जाएगा और तय टोल टैक्स ओटोमेटिक आपके FASTag Account से कट जाएगा।
  • फास्टैग अकाउंट से पैसा कटने और बाकी जानकारी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए तुरंत आ जाएगी।

इसे भी पढ़ें: New Motor Vehicle Act 2019 – भारत के नए ट्रैफिक के नियम

FASTags रिचार्ज मूल्य सूची-

FASTag Recharge Price List – फास्टैग की रिचार्ज मूल्य नीचे सूचीबद्व है।

वाहन   मूल्य
कार/जीप/वैन के लिए 200 रुपए
लाइट कामर्शियल वाहन (2 और 3 एक्सल) के लिए 300 रुपए
बस/मिनी बस के लिए 400 रुपए
ट्रक (2 एक्सल के लिए) 400 रुपए
ट्रक (3 एक्सल और इससे उपर के लिए) 500 रुपए
हैवी कंस्ट्रक्शन मशीनरी/अर्थ मूविंग के लिए 500 रुपए
ट्रेक्टर/ट्रैक्टर ट्रेलर के लिए 500 रुपए

  Click Here

यह भी पढ़ें: ट्रैफिक ई-चालान भुगतान 2019-20 ऑनलाइन भरें

प्यारे दोस्तों, आशा करते हैं की आपको हमारा आर्टिकल “फास्टैग- इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम (FASTag- Electronic Toll Collection System)” पसंद आया होगा। यदि आपको इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी या कोई सवाल पूछने हों। तो आप हमे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं। हम जल्द ही आपसे सम्पर्क कर आपके सवालों का जवाब देंगे। अन्य सभी सरकारी योजनाओ की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए हमारी वेबसाइट www.govtprocess.in के साथ बने रहें। धन्यवाद-

Leave A Reply

Your email address will not be published.