बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना आवेदन फॉर्म पीडीएफ

Beti-Bachao-Beti-Padhao-Yojana
Beti-Bachao-Beti-Padhao-Yojana

Beti Bachao Beti Padhao Yojana 2020: नमस्कार दोस्तों, आज हम देश की बेटियों के लिए सरकार द्वारा शुरू की गयी योजना की सम्पूर्ण जानकारी लेकर आए हैं। जिसका नाम है “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश की बेटियों को और अधिक मजबूत और सशक्त बनाने के लिए Beti Bachao Beti Padhao Scheme योजना का संचालन कर रहे हैं | बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 22 जनवरी 2015 में किया था।

जैसा की आप जानते हो भारतीय समाज और उसकी रूढ़ीवादी परंपराओं के चलते भारतीय बेटियों ने बहुत सारी यातनाएं और परेशानियां कई वर्षों तक झेली है। लोगों का बेटियों को गर्व ना मानकर एक अभिशाप मानना उनका हनन करना और हर समय बेटियों को बेटों से कम समझकर उनके सपनों का हनन करना और उनको कभी भी किसी भी प्रकार के अवसर पर अनुमति ना देना यह हमारे समाज की आज तक की रीति रही है।इस योजना का मुख्य उदेश्य इन समस्याओ को दूर करना है। जिससे हमारे देश की हर लड़की अपने सपनो को पूरा कर देश का नाम रोशन करें।

  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना मुख्य उद्देश्य 

Objective of Beti Bachao Beti Padhao Yojana :

  1. कन्या भ्रूण हत्या को रोकना :- योजना का मुख्य उद्देश्य देश में कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकना तथा ऐसे अपराध करने वाले लोगों को कठोर से कठोर दंड प्रदान करना है। ताकि देश में बेटियों की स्थिति को सुधारा जा सके। और उन्हें लड़कों जैसा दर्जा प्रदान किया जा सके। ताकि वह भी अपने सपनो को पूरा कर देश की प्रगति में अपना योगदान दें सकें।
  2. बेटियों की सुरक्षा :- Beti Bachao Beti Padhao Yojana 2020 योजना का उद्देश्य केवल कन्या भ्रूण हत्या को रोकना नही बल्कि बेटियों की सुरक्षा को भी सुनिश्चित करना भी है। आए दिन बेटियों के साथ छेड़छाड़ बलात्कार जैसे घिनौने अपराध किए जा रहे हैं। इन अपराधों को रोकना और ऐसे अपराधियों को दंडित करना भी बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना का मुख्य उद्देश्य है। बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना का संचालन करने के लिए देश की सरकार ने 200 करोड़ रुपए का फंड प्रदान किया है। इस योजना से देश में हो रहे बेटियों के साथ अत्याचार को कम करने में सहयता मिलेगी। 
योजना का नाम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
लॉन्च की तारीक  22 जनवरी 2015
उद्देश्य लड़कियों के जीवन स्तर को ऊपर उठाना
संबंधित  विभाग महिला और बाल विकास मंत्रालय
ग्रामीण क्षेत्रों में मुहिम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ :-

In Rural Areas, Beti Bachao Beti Padhao Campain :

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को लागू करने के बाद यह पूरी देश में काफी तेजी से बढ़ने लगी। लोग अपनी बेटियों के साथ सेल्फी खींच कर प्रधानमंत्री मोदी को भेज रहे है। भारत सरकार का यह परिवर्तनकारी बदलाव महिला सशक्तिकरण के लिए धीरे-धीरे समाज के अंदर बेटियों के नजरिए को लोगों के मन में बदल रहा है । बेटियां होना कोई दोष या फिर अभिशाप नहीं है बल्कि बेटियां होना गर्व की बात।धीरे -धीरे यह योजना अपनी पकड़ देश के सभी राज्यों और जिलों में बना रही हैं और गांव – गांव में जाकर शिक्षण के अंदर नुक्कड़ नाटक द्वारा बेटियों की महत्वता को लोगों के सामने बताया जा रहा है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की सफलता :-

Beti Bachao Beti Padhao Success :

देश के 100 जिलों में चल रही बीजेपी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अच्छे नतीजों से उत्साहित अब इसे देश के 61 और पिछड़े जिलों में लागू करने जा रही है। इन 61 जिलों में 11 राज्य आते हैं जो की इस प्रकार है।

  1. उत्तर प्रदेश – अलीगढ़,इटावा , फिरोजाबाद, हमीरपुर, सहारनपुर,महोबा, फर्रुखाबाद जालौन, इटा, बिजनौर और मैनपुरी शामिल है।
  2. दिल्ली के 2 जिले – उतर पूर्वी और दक्षिणी पूर्वी।
  3. गुजरात के 4 जिले – आंनद,अमरेली ,भानगर और पाटन।
  4. हरियाणा के 8 जिले – गुड़गांव, फरीदाबाद ,हिसार, फतेहाबाद पंचकूला, सिरसा, पलवल ,जिंद।
  5. हिमाचल प्रदेश के 2 जिले – कांगड़ा और हमीरपुर।
  6. जम्मू कश्मीर के 10 जिले – श्रीनगर, बारामुला, शोंपिया, उधमपुर, बांदीपुर, कुलगाम, राजरी, सांबा, गंधेर बल और कुपवाड़ा शामिल है।
  7. मध्प्रदेश के 2 जिले – रेवा और टीकमगढ़।
  8. महाराष्ट्र के 6 जिले – हिंगोली ,सोलापुर,नाशिक ,लातूर ,पनाभी और पुणे।
  9. पंजाब के 9 जिले – बठिंडा ,लुधियाना, हसियापुर , फरीदकोट,भगत सिंह नगर, मोगा,रूपनगर, कपूरथला, जलंधेर।
  10. राजस्थान के 4 जिले – जैसलमेर जोधपुर हनुमानगढ़ और टोंक शामिल है।
  11. उत्तराखंड के 3 जिले – देहरादून ,चमोली और हरिद्वार शामिल है।

इन राज्यों के 61 जिलों में सरकार का केवल एक ही लक्ष्य है। लिंगानुपात को कम करना और लोगों के प्रति बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के प्रति जागरूकता पैदा करना है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत जमा राशि और वापस मिलने वाली धनराशि

Deposits and refunds under Beti Bachao Beti Padhao Scheme – बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत जमा राशि और वापस मिलने वाली धनराशि का पूर्ण विवरण निम्न प्रकार से है।

=> यदि आप बेटी के बैंक अकाउंट में हर महीने 1000 रूपये जमा करते हैं।

  • हर महीने 1000 रूपये यानि की प्रतिवर्ष 12000 रूपये की धनराशि जमा करते है तो आपके द्वारा 14 वर्षो में कुल 1 ,68 000 रूपये की धनराशि जमा हो जाएगी। बैंक अकाउंट के 21 वर्ष बाद मेच्युर होने के बाद आपकी बेटी को 6 ,07 ,128 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।

=> और यदि आप बेटी के बैंक अकाउंट में प्रतिवर्ष 1 .5 लाख रूपये जमा करते है।

  • बैंक अकाउंट में प्रतिवर्ष 1 .5 लाख रूपये जमा करने पर आप 14 वर्षो तक अपनी बेटी के खाते में कुल 21 लाख रूपये जमा होंगे। खाते के परिवक्व होने के बाद आपकी बेटी को 72 लाख रूपये प्रदान किये जायेगे।
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के लिए आवेदन कैसे करें :-

How to Apply for Beti Bachao Beti Padhao Scheme :

इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा।

  • चरण 1 => बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी बेटी का खाता किसी नजदीकी बैंक में ओपन करवाना होगा। बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के अंतर्गत भारत की लगभग सभी बैंक खाता खोलती हैं।
  • चरण 2 => बैंक अकाउंट खुलवाने के बाद आपको Beti Bachao Beti Padhao Yojana 2020 योजना के अंतर्गत “सुकन्या समृद्धि योजना/ Sukanya Samriddhi Yojana” का फार्म बैंक कर्मचारी से लेना होगा। और उस फॉर्म को भर कर साथ में आवश्यक दस्तावेज संलग्न करके जमा करना होगा।

Beti-Bachao-Beti-Padhao-Yojana-2020-Form-PDF

  • चरण 3 => अब आप फॉर्म को सही से भरकर जमा कर दें। इसी के साथ आपकी आवेदन की प्रकिर्या पूरी हो जाएगी।

Beti Bachao Beti Padhao Yojana योजना के अंतर्गत Sukanya Samriddhi Yojana एक महत्वपूर्ण योजना है। इससे बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के अंतर्गत खोले गए अकाउंट में हर साल 9.1% की दर से ब्याज प्रदान किया जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना जानकारी 

Sukanya Samrudhi Yojana Information :

इस के अंतर्गत 10 वर्ष से कम आयु की बेटियों का खाता खोला जाता है। बेटियों की उम्र कम होने के कारण उनके इस अकाउंट की देखरेख उनके माता-पिता द्वारा की जाती है।

योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज (Documents required for the scheme):-

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता ओपन कराने के लिए निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है।

  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता पिता अथवा संरक्षक का एड्रेस प्रूफ
  • परिचय पत्र

योजना के लिए आवश्यक निर्देश (Instructions for the scheme):-

  • Sukanya Samriddhi Yojana में खाता ओपन करने के लिए कम से कम 1000 रु की धनराशि खाते में जमा करने अनिवार्य है। इसके साथ ही प्रतिवर्ष इस खाते में कम से कम 100 रुपए जमा करना अनिवार्य है।
  • अन्यथा बैंक द्वारा इस खाते को बंद कर दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त इस खाते में 1.5 लाख रुपए प्रति वर्ष अधिकतम धनराशि जमा की जा सकती है।
  • कन्या की उम्र 18 वर्ष हो जाने के पश्चात इस खाते से 50% की धन राशि कन्या की पढ़ाई एवं शादी के लिए निकाली जा सकती है।
  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खोले गए खाते की वयस्कता खाता खोलने की तारीख से लेकर 21 वर्ष तक तय की गई है। इसके साथ ही 14 वर्ष तक
  • इस खाते में धनराशि जमा करने की सुविधा प्रदान की गई है।

Click Here

यह भी पढ़े:

नारी पोर्टल महिला सशक्तिकरण योजना 2020 (Click Here)

एलआईसी कन्यादान पॉलिसी इन हिंदी (Click Here)

दोस्तों, उम्मीद करते हैं की भारत सरकार द्वारा देश की बेटियों को मजबूत और सशक्त बनाने के लिए चलाई जा रही महत्वपूर्ण योजना “Beti Bachao Beti Padhao Yojana 2020” के बारे में हमारे द्वारा दी गयी सभी जानकारियां आपको पसंद आयी होंगी। यदि आपको इससे जुडी कोई अन्य जानकारी या कोई सवाल पूछना हो तो आप हमे नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम जल्द ही आपको जवाब देंगे। सरकार द्वारा शुरू की गयी अन्य सभी योजनाओ की अधिक जानकारी के लिए हमारे पेज www.govtprocess.in से जुड़े रहें।
1 Comment
  1. चंदन प्रसाद says

    सर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सरकार द्वारा दी जा रही ₹200000 क्या यह बात सही है क्या

Leave A Reply

Your email address will not be published.